कुमार अमित के बारे में

aamit wrajहिंदी जंक्शन मेरी अभिव्यक्ति स्थली के साथ-साथ अन्य हिंदी परियोजनाओं का एक महत्त्वाकांक्षी मंच भी है. मैंने कॉलेज के दिनों प्रारंभिक रूप से Amitwrites पर लिखना शुरू किया. परन्तु हिंदी के प्रति रुझान को लेकर अलग से एक और ब्लॉग की स्थापना करना चाहता था जो आपके समक्ष है.

हिंदी लेखन की मेरी प्रतिभा आरंभिक कक्षा में ही दिख गयी थी जब मैंने गाय पर एक निबंध लिखा – शून्य मिला था ! हाँ, हिंदी के नाम पर दादी-नानी की कहानियाँ तथा कॉमिक्स पढ़ते हुए समय निकला. आगे की कक्षा में जब सीमा मैडम (आज तक उन्हें इसी नाम से जानता हूँ) ने ‘पञ्चलैट’ पढ़ाया तो हिंदी साहित्य की गूढ़ता, प्रगाढ़ता, गहनता और रचनात्मकता से एक साथ परिचय हुआ. फिर महादेवी वर्मा ने अपने साहित्य से हिंदी में समाहित सौंदर्य से परिचय कराया. ‘गोरा’ और ‘नीलू’ अध्याय के रूप में कक्षा में शुरू होने से पहले मैंने उन्हें खुद ही पढ़ डाला था. उसके बाद हिंदी को पाठ्यक्रम से अलग अपने रूचि की चीज़ों में लेने लगा. यह बात अलग है कि नंबर फिर भी कभी अच्छे नहीं आए ! परन्तु अगाध श्रद्धा के साथ हिंदी का एक पाठक तैयार हो चुका था.

मूलतः इलेक्ट्रॉनिक्स (B.E.) और नैनोटेक्नोलॉजी (M.Tech.) में शैक्षणिक डिग्री के पश्चात बी॰आई॰टी॰, मेसरा में शोधार्थी व Ph.D. छात्र. परन्तु साहित्य (अंग्रेजी भी) से उतना ही प्रेम.

संगीत और अन्य ललित कला में भी मेरा रुझान गहरा है और अपने इस शौक को Youtube के माध्यम लोगों के बीच साझा करता रहता हूँ.

Web Development, Computer Graphics तथा अन्य तकनीकी हुनर पर भी थोड़ा हाथ साफ़ है जिससे Freelancer के तौर पर अपनी सेवा भी देता हूँ. मेरी सेवाओं की विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें …

आप अगर लेखक/प्रकाशक हैं तो पुस्तक-समीक्षा के लिए मुझे पुस्तकें भी प्रेषित कर सकते हैं जिनकी शर्तें निम्न है:

१. पुस्तक का मूल्य और डाक खर्च भेजने वाले ही वहन करेंगे
२. अगर पुस्तक डाक से आई है तो वापस करने की कोई बाध्यता नहीं होगी
३. समीक्षा में कोई पक्षपात नहीं होगा
४. समीक्षा लिखने की समय सीमा लगभग एक महीने की होगी
५. अच्छी समीक्षा के लिए कोई ‘उपहार’ स्वीकार्य नहीं होगी

इस ब्लॉग से जुड़े आपके सभी सुझाव आमंत्रित है.

मुझे आप amit.wraj@gmail.com या junctionhindi@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं.

आप मुझसे यहाँ भी जुड़ सकते हैं : Twitter, Facebook, Google+ और Youtube

_____________

विशेष आभार :

Nibble Software के नारायण झा जी का जो वेबस्पेस सेवा प्रदाता के रूप में हिंदी जंक्शन से अशर्त जुड़े हैं. यह ब्लॉग उन्ही के मुहैया कराये गए वेबस्पेस पर बिना एक धेला दिये बैठा है.