सोशल मीडिया पर किसी भी सामग्री को साझा करने का मुख्य उद्देश्य यही होता कि वह ज्यादा से ज्यादा लोगों के समक्ष पहुँच सके. हालाँकि इसके लिए कई बातों का ध्यान रखना आवश्यक होता है जिसमे कुछ तकनीकी विषय भी शामिल हैं. हैशटैग इसी विषय पर आधारित एक प्रबल माध्यम है जिसका यथोचित उपयोग किसी भी पोस्ट को प्रभावी बना सकता है.

hashtag introduction hindi
सोशल मीडिया पर हैशटैग का सही उपयोग आपके सन्देश को प्रभावी बनाता है

वैसे यह हैशटैग है क्या ?

आपने ट्विटर से लेकर फेसबुक पर कई बार किसी खास शब्द के पूर्व में ‘#’ चिन्ह देखा होगा. यह दिए गए शब्द को लिंक में परिवर्तित करने का कार्य करता है और सारा खेल यहीं से शुरू होता है!

उदाहरण के तौर पर मैं किसी भी सन्देश या लिंक साझा करते हुए इसके वर्णन में #HinfoGraphics लिख दूँ तब यह अपने-आप एक लिंक में परिवर्तित हो जाएगा तथा इसपर क्लिक करके वह सभी सन्देश पढ़े जा सकते हैं जहाँ-जहाँ इसका अक्षरशः प्रयोग हुआ हो (‘#’ प्रतीक चिन्ह के साथ).

वर्ष 2010 में हैशटैग शब्द को ऑक्सफोर्ड शब्दकोश में भी समाहित किया जा चुका है #HindiFacts Click To Tweet

आरंभिक तौर पर हैशटैग का प्रयोग IRC पर हुआ था जिसे बाद में ट्विटर ने प्रचलित किया. फिर यह फेसबुक से लेकर अन्य सोशल मीडिया पर भी इस्तेमाल में लाया जाने लगा. इससे जुड़ी अन्य रोचक जानकारियों के लिए इस इन्फोग्राफिक को देखें.

हैशटैग के उपयोग की सही विधि क्या है ?

हैशटैग को लेकर कई लोग अब भी भ्रम में रहते हैं या जाने अनजाने में इसका दुरूपयोग कर बैठते हैं. प्रस्तुत है इसके सही से उपयोग में लाने की विधि.

इसे पुनः विभिन्न उदाहरणों के साथ समझा जा सकता है.

सदुपयोग – जिन्हें हैशटैग की सही समझ होती है

hashtag correct usage
हैशटैग का सही एवं सरल उपयोग

यहाँ आप हैशटैग को मात्र उन शब्दों के साथ उपयोग करते हैं जो उस विषय से जुड़ा मुख्यशब्द है और जिससे आप अन्य संदेशों के बीच संबंध स्थापित कर सकते हैं. जैसे instagram पर सम्बंधित तस्वीर के साथ #AncientMonuments लिखा जाए तो उस हैशटैग पर क्लिक करने से वह तमाम उन चित्रों को दर्शाएगा जो पुराने स्मारकों से जुड़ा है. विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें.

निरर्थक उपयोग – ऐसा मुख्यतः अपर्याप्त ज्ञान के कारण होता है

improper and incorrect usage of hashtag
हैशटैग का बेवजह उपयोग

यह दरअसल इसलिए प्रचलित है क्योंकि कई उपयोगकर्ता या तो इसे इस्तेमाल में लाने की सही विधि नहीं जानतें या शब्दों का लिंक में बदल जाना उन्हें एक प्रकार का सुकून पहुंचाता है. जब भी हैशटैग का चुनाव करे तो इस बात का अनुमान अवश्य लगाएँ कि क्या किसी अन्य व्यक्ति ने भी अमुक शब्द का चुनाव उसी संदर्भ में किया होगा.

निम्न उदाहरण देखें:

“किसी भी विषय को विवरणात्मक चित्र के माध्यम से दर्शाने के लिए #HinfoGraphics एक सशक्त माध्यम है.”

यहाँ हम HinfoGraphics को हैशटैग के लिए चुनेंगे क्योंकि इसका मुख्य विषय और शब्द यही है. जहाँ-जहाँ ‘#HinfoGraphics’ शब्द का प्रयोग हुआ होगा, यह लिंक उन सभी को एकीकृत करके आपके समक्ष रख देगा. परन्तु ‘भी’, ‘को’, ‘से’, ‘है’ ‘माध्यम’ इत्यादि जैसे आम शब्दों से बनाया गया हैशटैग किसी काम के नहीं क्योंकि इनका प्रयोग अमूमन सभी वाक्यों में होता हैं. सदा उसी शब्द को चुने जो उस वाक्य की विशिष्टता हो.

एक अन्य हैशटैग का उदाहरण लेते हैं:

#‎ऐसा ‪#‎भी ‪#‎होता ‪#‎है

#ऐसाभीहोताहै

#ऐसा_भी_होता_है

पहले वाले में दरअसल एक नहीं 4 है! ध्यातव्य है कि सभी शब्द को क्लिक करने पर जो लिंक खुलेगा उसकी विषय-वस्तु का अंदाजा आप लगा सकते हैं. अब ‘भी’ शब्द किसी अन्य वाक्य के लिए सामान्य कड़ी कैसे बन सकती है ?

दूसरा तकनीकी रूप से सही है परन्तु इससे शब्द मिश्रित प्रतीत होते हैं जो पढ़ने में कठिन प्रतीत होते हैं (कभी-कभी अर्थ का अनर्थ भी हो सकता है!). हालाँकि यह पूर्णतः अक्षरों के चुनाव पर निर्भर करता है. जैसे #काव्यपंक्तियाँ

तीसरा उपर्युक्त समस्या का हल प्रदान करता है. परन्तु इसकी जाँच अवश्य कर लें कि अन्य लोग कौन से शब्दों का ज्यादा प्रयोग कर रहे हैं. आप उसी हैशटैग का प्रयोग करना चाहेंगे जो ज्यादा चलन में हो. हालाँकि अंग्रेजी में यह समस्या प्रथम अक्षर को कैपिटल बनाकर हल कर ली जाती है (जैसे HinfoGraphics). ध्यातव्य है कि शब्दों को अलग करने हेतु underscore ( _ ) का ही प्रयोग करें. हैशटैग में ‘?’ ‘!’ ‘&’ ‘*’ ‘%’ इत्यादि चिन्ह मान्य नहीं है और ‘@’ का अपना एक अलग ही उपयोग है.

दुरूपयोग – यह कई बार जानबूझ कर किया जाता है

unethical and spammy usage of hashtag
हैशटैग का गलत तथा अनैतिक उपयोग जो स्पैम की श्रृंखला में आता है

यह दरअसल किसी पूर्ण रूप से अलग हो रही चर्चा में अपनी नाक घुसाने जैसे है. इसका प्रयोग स्पैमर्स से लेकर गलत तरह से मार्केटिंग करने वाले तक के लोग करते हैं. यहाँ आप ट्रेंडिंग विषय (किसी अमुक समय में जिस विषय पर सबसे ज्यादा बहस या चर्चा हो रही हो) के हैशटैग का पता लगाते हैं और अपने सन्देश के साथ उसका इस्तेमाल करते नहीं चूकते.

उदाहरण के लिए आपने कोई कविता लिखी और हॉलीवुड के किसी ट्रेंडिंग हैशटैग के साथ साझा कर दिया जिसका उस विषय से कोई लेना देना नहीं है. यह आपके ट्वीट या पोस्ट को कई लोगों तक अवश्य पहुँचा देगा परन्तु इससे आपकी छवि भी ख़राब होती है जिससे कारण आपसे कोई जुड़ना नहीं चाहेगा. कुछ इन्टरनेट गुरु आपको इसकी सलाह भी देंगे परन्तु इस तथाकथित ‘ट्रिक’ से जहाँ तक हो सके परहेज करें.

सोशल मीडिया पर अपना हित साधने के लिए इन ‘तिकड़मों’ से परहेज करें.

अन्य महत्वपूर्ण टिप्स

1. आप इसे वाक्य में समाहित कर लें या इसके पूर्व तथा अंत में लगा सकते हैं.

जैसे “हिंदी जंक्शन पर लगे #HinfoGraphics रोचक तथा ज्ञानवर्धक है” अथवा “जन गण मन का सही उच्चारण समझना हम भारतियों के लिए आवश्यक है #HinfoGraphics”

2. इसका चुनाव पूर्णतः आपके वाक्य या कहे जा रहे संदेश पर निर्भर करता है.

‘#Mahabharat’ लिखें या ‘#महाभारत’? ‘#कविता’ लिखें या ‘#काव्य’? अगर आप दुविधा में हैं कि कौन सा हैशटैग उचित होगा और कौन नहीं तो दर्शाए गए लिंक पर जाकर यह सुनिश्चित कर लें कि किस हैशटैग पर क्लिक करने पर कैसा और कितना पोस्ट पाठकों के समक्ष आएगा. XYZ की जगह अपना शब्द डालकर देखें.

hashtag tips and tricks
XYZ की जगह अपना हैशटैग लगाकर देखें कि आपके समक्ष क्या आ रहा है

यह एक सामान्य सा प्रयोग है जिससे आप पोस्ट डालने से पहले ही पता लगा सकेंगे कि कौन सा हैशटैग ज्यादा उपयुक्त है.

3. अपना एक मौलिक हैशटैग चुन लें और यदा-कदा उसे अपने लेख, ट्वीट, चित्रों के साथ साझा करते रहें (विषय वस्तु पर ध्यान देते हुए !).

यह इस तरह ब्राण्डिंग का भी कार्य करता है. हैशटैग का दोहराव कई मायनों में अच्छा भी है क्योंकि जिन मित्रों को समान सामग्री देखने-पढ़ने की जिज्ञासा होगी उन्हें आपका पिछला लेख आसानी से उपलब्ध हो जाएगा. उदाहरण के तौर पर मैं अपने किसी व्यंग्यात्मक लेख के आगे ‘#ब्रह्मज्ञान’ नामक हैशटैग लगा देता हूँ. यह वैसे भी सोशल मीडिया पर अतिप्रचलित है जिसका लाभ मुझे भी मिल जाया करता है. वहीं कई मित्र छोटी कहानियाँ लिखकर ‘#लप्रेक’ का टैग इस्तेमाल कर लेते हैं जिससे कई और रोचक कहानियाँ पढ़ने को मिल जातीं हैं. कई लेखक मित्र अपनी किताब के नाम का भी हैशटैग बनाकर उसका प्रचार-प्रसार कर सकते हैं.

4. अगर आप ज्यादा फैन या मित्रों से जुड़ना चाहते हैं तो ‘trending hashtag’ पर सदा नज़र रखें.

जैसे सोमवार की सुबह ट्विटर पर #MondayMotivation का भरपूर उपयोग होता है. आप इससे जुड़ी अपनी कोई बात साझा कर ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुँच सकते हैं. बस इस बात का ख्याल रखें कि इस्तेमाल किया गया हैशटैग प्रासंगिक हो.

5. प्लेटफार्म का अवश्य खयाल रखें

फेसबुक की तुलना ट्विटर पर लोग हैशटैग को लेकर ज्यादा सजग होते हैं. इसका मुख्य कारण यह है कि वहाँ शब्द सीमा तय होती है. अगर आपकी गतिविधियाँ #HashTag पर ज्यादा निर्भर करती है तो प्लेटफार्म का चुनाव भी उसी के अनुरूप करें. जैसे चित्रों के लिए इन्स्टाग्राम या पिंटरेस्ट ज्यादा उपयुक्त है. किसी भी प्रकार का हलचल या समाचार ट्विटर पर जल्द ही आ जाया करती है. फेसबुक इन सब के बीच में आता है और यहाँ आवश्यकता से अधिक हैशटैग का उपयोग फलित भी नहीं होता.

6. एक बार में 2-3 से ज्यादा हैशटैग का उपयोग न करें.

तथ्यों के अनुसार Hashtag Cloud पाठकों को ज्यादा आकर्षित नहीं करते और वह क्लिक से वंचित रह जाते हैं. इसलिए उनके बहुतायत उपयोग से बचे.

7. सटीक, सरल, सुपाठ्य तथा आसानी से स्मरण होने वाले शब्दों का ही उपयोग करें. ज्यादा लम्बा, अस्पष्ट या भ्रमित करने वाले हैशटैग से बचें.

#बम्बईसेआयामेरादोस्तदोस्तकोसलामकरो जैसा हैशटैग नहीं चलेगा !

8. इसका ऑफलाइन या अन्य प्रसार माध्यम पर इस्तेमाल आपके ब्राण्ड के प्रचार के लिए अच्छा है.

हैशटैग का उपयोग भले ही ऑनलाइन गतिविधियों के लिए होता हो, परन्तु इसका उपयोग ऑफलाइन भी कर सकते हैं जिसका फायदा दोबारा से ऑनलाइन माध्यम पर मिलता है. उदाहरण के तौर पर #BigBillionDay – कुछ याद आया? अख़बार, टेलीविज़न स्क्रीन, होर्डिंग इत्यादि पर कहीं भी इसे दिखा कर लोगों को अपनी ओर आकृष्ट कर सकते हैं तथा आगे की जानकारी दे सकते हैं.

9. इस हाथ दे और उस हाथ ले की परंपरा.

हैशटैग एक तरह से दो-तरफा माध्यम है. इसे क्लिक कर लोग अन्यत्र जा सकते हैं या कहीं और क्लिक कर आपे पास पहुँच सकते हैं. इसलिए शब्दों का अवश्य ध्यान रखें कि यह आपके पाठकों को कहाँ ले जा सकता है या आप भी उसी शब्द का इस्तेमाल करें जिसका संभावित तौर पर किसी अन्य ने किया हो.

उदाहरण के तौर पर #DilliKaMughlaiParatha एक बहुत संकुचित विषय पर आधारित वाला हैशटैग होगा जिसका शायद ही कोई इस्तेमाल करे. इससे बेहतर होगा कि इसे #‎DelhiCuisine लिखा जाए. आपने सही जगह भेजा भी और एक पहले से खड़ी भीड़ को बुलाया भी. हाँ, मौलिक हैशटैग कर प्रयोग तब कर सकते हैं जब आप इसकी एक पूरी श्रृंखला बनाकर इसका प्रचार करना चाहते हैं.

10. यह आवश्यक नहीं कि अपने सभी लेख-संवाद के साथ हैशटैग का उपयोग करें ही करें.

लिखने के पश्चात् इस बात कि पुष्टि अवश्य कर लें कि सम्बंधित पोस्ट में उसकी उपयोगिता है या नहीं. हैशटैग का सही उपयोग ऑनलाइन शिष्टाचार का अहम पहलू है, इसका अवश्य ध्यान रखें!

आपकी बारी !

इस पोस्ट से जुड़े किसी भी प्रश्न के लिए अपनी टिप्पणी दर्ज करें. सोशल मीडिया और ब्लॉगिंग से जुड़ी तमाम जानकारी पाने के लिए सब्सक्राइब भी करें !


Topics Covered : What is Hashtag, Hashtag Tips & Tricks, Social Media Etiquette, How To Use Hashtags

आपकी टिप्पणी

टिप्पणी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here