WordPress या Blogger ? अगर आप अपना ब्लॉग शुरू करने जा रहे हैं तो यह चुनाव खुद से किये गए किसी यक्ष प्रश्न से कम नहीं ! WordPress बनाम Blogger की चर्चा या दुविधा निरंतर उठती रहती है. आइये जानते हैं दोनों में क्या अंतर है और कौन आपके लिए बेहतर होगा.

blogger vs wordpres complete blogging guide
वर्डप्रेस बनाम ब्लॉगर – कैसे करें निर्धारण ?

Blogger (अथवा Blogspot)

जहाँ तक मुझे स्मरण है, यह ब्लॉगिंग का सबसे पुराना और प्रचलित प्लॅटफॉर्म है. आज भी यह सबसे ज्यादा व्यव्हार में आता है परन्तु कुछ खामियों के कारण ब्लॉगर्स ने अन्य प्लॅटफॉर्म की तरफ़ भी रुख किया है. अगर आप शौकिया लिखते हैं और आगे इसे ज्यादा आगे ले जाने का मन नहीं तो यह सबसे सरल विकल्प है. परन्तु अगर आप बाद में सेल्फ होस्टेड ब्लॉग की तरफ़ रुख़ करना चाहेंगे तो कई तकनीकी अड़चने आ सकती है. यह भी ज्ञात हो कि blogger आपको ज्यादा से ज्यादा सिर्फ़ कस्टम डोमेन की सुविधा देता है. इसमें न तो आप अपना खुद का permalink (URL से जुड़ा SEO का एक जरुरी पहलू) सेट कर सकते हैं और न तो ज्यादा अन्य सुविधा है. हाँ, bloggers में आपको अपने वेबसाइट के लिए मनचाहा थीम और डिज़ाइन जरूर मिल जाएगा (जिसमें आप खुद से फ़ेरबदल कर सकते हैं).
मैं इसके लिए फिर भी मना करूंगा क्यूंकि गूगल खुद कब इसे बंद कर दे (सूत्रों की माने तो गूगल अब खुद इसके बेहतरी के लिए ज्यादा कार्यरत नहीं है) यह कोई नहीं जानता. और न ही पिछले कई सालों में इसमें कोई बड़ा तकनीकी परिवर्तन आया है.

WordPress

यह भी एक मुफ़्त विकल्प है जो आपको xyz.wordpress.com के फॉरमेट में आपको अपना पसंदीदा नाम दे देगा (अगर उपलब्ध है तो). अब तक इसकी सबसे बड़ी तथाकथित समस्या यह थी कि गूगल सर्च xyz.wordpress.com से ज्यादा xyz.blogspot.com को महत्व देता (हालाँकि यह समस्या कस्टम डोमेन के साथ नहीं थी और आपकी सामग्रियाँ अच्छी है तो फ़र्क नहीं पड़ता कि किस पर है). परन्तु अगर आप अपना कस्टम डोमेन नेम रखना चाहते हैं तो blogger के कस्टम डोमेन वाले विकल्प से ज्यादा अच्छा है. ऐसा इसलिए क्युकी अगर भविष्य में सेल्फ होस्टेड ब्लॉग की तरफ़ जाएँ तो कार्य ज्यादा पेचीदा नहीं लगेगा. WordPress सेल्फ होस्टेड डोमेन के लिए भी वही प्लॅटफॉर्म इस्तेमाल करता है जो यह मुफ़्त सेवाओं के लिए देता है (और इसमें समय-समय पर बदलाव तथा updates भी दिए जाते हैं). इसका फायदा यह है कि जब आप सेल्फ होस्टेड ब्लॉग का मन बनाते हैं तो आपके पहले वाले वेबसाइट के मूल ढांचे में कोई ज्यादा फेर बदल नहीं होगा और न ही आपको अपने पोस्ट में कोई अतिरिक्त फॉरमैटिंग करने की आवश्यकता होगी.
मैं Blogger (Blogspot) की तुलना में WordPress की अन्य खूबियाँ बताता हूँ:

  • लगभग 20% वेबसाइट wordpress पर ही है (जिसमें लगातार वृद्धि हो रही है)
  • लगभग 80% ब्लॉग wordpress पर हैं
  • यह निरंतर अपडेट होता रहता हैं
  • इसे संचालित करने के लिए ज्यादा तकनीकी ज्ञान नहीं चाहिए (वैसे अगर आपको कोई थोड़ी भी HTML/PHP/CSS आती है तो और भी बेहतर)
  • SEO के लिए सुविधा और सहूलियत
  • इसका ऑनलाइन समुदाय इतना बड़ा है कि तकनीकी परेशानी आने पर उनके फोरम में जाकर (मुफ़्त) सलाह ले सकते हैं *
  • इसके लिए उपलब्ध थीम और plugin की संख्या अथाह है (जिससे आप अपने website का डिज़ाइन तथा features कैसा भी बना सकते हैं)
  • WordPress की मदद से आप अपना पूर्ण रूप से स्वतंत्र या सेल्फ होस्टेड वेबसाइट बना सकते हैं जिसकी सुविधा blogspot (blogger) में नहीं है.
सम्बंधित पोस्ट :   एक अच्छे ब्लॉग के लिए इन तत्वों से परहेज करें

* wordpress.com मुफ़्त सेवाओं के लिए है और wordpress.org सेल्फ होस्टेड ब्लॉग के लिए.

अगर आप नॉन-सीरियस ब्लॉगर हैं जो कभी कभार ही लिखा करते हैं तो कोई भी चुन सकते हैं. परन्तु अगर भविष्य में कस्टम डोमेन वाले ब्लॉग या सेल्फ होस्टेड सर्विस की तरफ़ जाना चाहेंगे तो मेरी राय में फ़िलहाल WordPress से अच्छा कोई विकल्प नहीं. अब आप सरलता से निर्धारण कर सकते हैं !

आपकी बारी !

इस संदर्भ में आप अपना सवाल नीचे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं !

Topics Covered : WordPress vs Blogger, Complete Blogging Guide in Hindi, How To Blog, Choosing Blogging Platform

आपकी टिप्पणी

टिप्पणी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here